एफएक्स ट्रेडिंग

क्या करें निवेशक

क्या करें निवेशक
Global Stock Broking के एमसी गुप्‍ता के मुताबिक इसका Valuation ज्‍यादा हो गया है। IPO के जरिए कंपनी के शेयर खरीदने वाले रिटेल निवेशकों को 125 रुपए से 130 रुपए के लेवर पर Exit कर जाना चाहिए। जो निवेशक लंबे समय तक पैसा लगाए रखना चाहता है, वह 2 से 3 साल तक शेयर को Hold कर सकता है। क्‍योंकि कंपनी को अभी 1 साल तक मुनाफा होने की उम्‍मीद कम क्या करें निवेशक है।

Investors Alert: म्‍यूचुअल फंड निवेशक रहें अलर्ट, रिकॉर्ड पर रिकॉर्ड बना रहा शेयर बाजार, SIP स्‍ट्रैटेजी में करें ये बदलाव

क्या शेयर बाजार में निवेश बेहतर: क्या करें निवेशक

बढ़ती मंहगाई, बेरोज़गारी और कमजोर विकास की दर के बीच बढ़ता शेयर बाजार सोचने पर मजबूर करता है कि क्या शेयर निवेश अभी भी बेहतर है. खासकर ऐसे वक्त जब वैश्विक स्थिति क्या करें निवेशक डांवाडोल है, बाजार मंदी का संकेत दे रहे हैं और क्या करें निवेशक विदेशी निवेशक भारतीय बाजार से पैसा निकाल रहे हैं. भारी उथल पुथल चारों तरफ व्याप्त है.

दूसरी तरफ भारतीय शेयर बाजार क्या करें निवेशक में देशी निवेशक भरपूर पैसा लगाते जा रहें हैं जिससे शेयर बाजार मजबूत दिख रहा है. जहां विदेशी निवेशक पैसा निकाल रहे हैं और सुरक्षित जगह अमेरिका में पैसा लगा रहे हैं क्योंकि अमेरिका ने ब्याज दरों में बढ़ोतरी कर दी है.

बढ़ती ब्याज दरों के कारण अमेरिका में ज्यादा निवेश होना न केवल डालर को मजबूत कर रहा है अपितु पूरे क्या करें निवेशक विश्व में ब्याज दरों को बढ़ाने के संकेत दे रहा है.

दीर्घ काल में अमेरिका को ही इसका नुकसान भुगतना पड़ेगा तब डालर कमजोर भी होगा और अमेरिकन कंपनियों का प्राफिट भी कम होगा, लेकिन फिलहाल भारतीय शेयर बाजार की स्थिति क्या करें निवेशक अच्छी नहीं कही जा सकती.

2022: डबल डिजिट के करीब सेंसेक्‍स और निफ्टी का रिटर्न

इस साल के उतार चढ़ाव के बीच सेंसेक्‍स और निफ्टी का रिटर्न करीब 9 फीसदी हो गया है. 1 जनवरी से अबतक 5000 अंकों से ज्‍यादा, जबकि निफ्टी में करीब 1500 अंकों की तेजी आई है. जून 2022 में शेयर बाजार में खासा करेक्‍शन देखने को मिला था. 17 जून 2022 को निफ्टी 15183 के लेवल तक कमजोर हुआ था. जबकि सेंसेक्‍स में 50921 के लेवल तक गिरावट आई. आज निफ्टी 18888 और सेंसेक्‍स 63583 के लेवल तक पहुंच गया.

बैंक की बजाए इस सरकारी स्‍कीम में जमा करें 4.50 लाख, हर महीने 2500 रुपये होगी इनकम, 5 साल बाद पूरा पैसा वापस

म्‍यूचुअल फंड निवेशक रहें अलर्ट

BPN फिनकैप के डायरेक्‍टर एके निगम का कना है कि बाजार अपने आलटाइम हाई पर हैं, जबकि कुछ अनिश्चितताएं अभी मौजूद हैं. ऐसे में यह संभव है कि नियर टर्म में कुछ करेक्‍शन देखने को मिल सकता है. इसलिए निवेशकों को कुछ अलर्ट रहने की जरूरत है. खासतौर से वे निवेशक जिनके फाइनेंशियल गोल पूरे हो चुके हैं और उनकी उम्र भी कुछ ज्‍यादा हो चकी है.

उनका कहना है कि अगर आप रिटायरमेंट की अवस्‍था में हैं या वहां तक पहुंच रहे हैं तो निवेश को लेकर सजग रहें. अगर आपने जो फाइनेंशियल गोल सेट किया था, उसके नजदीक पहुंच रहे हैं या पहुंच चुके हैं तो समय समय पर प्रॉफिट बुकिंग शरु करें. इसके लिए सिस्‍टमैटिक विद्ड्रॉल प्‍लान बेहतर हो सकता है. ऐसे निवेशक अपना कुछ पैसा डेट या फिक्‍स्‍ड इनकम प्‍लान में भी डाल सकते हैं.

अगर लक्ष्‍य पूरे होने के करीब हैं

उदाहरण के तौर पर मान लिया कि आपने कार खरीदने के लिए एसआईपी शुरू की थी और आपका लक्ष्‍य 8 लाख रुपये जुटाने का था. अगर आप के एसआईपी की वैल्‍यू 8 लाख के करीब है और कार खरीदने में 4 या 5 महीने बचे हैं तो यह पैसा निकाल सकते हैं. 4 से 5 महीने के लिए कुछ पैसा शॉर्ट टर्म डेट प्‍लान में या बैंक में रख सकते हैं. इससे अगर हाल फिलहाल में बाजार में गिरावट आती भी है तो आपको नुकसान नहीं होगा. आप अपने लक्ष्‍य से पीछे नहीं रह जाएंगे.

एके निगम का कहना है कि यंगर जेनरेशन के पास लंबी अवधि के लिए मौके होते हैं. वहीं एसआईपी सुरक्षित निवेश का आल टाइम फेवरेट जरिया बनता जा रहा है. अगर पैसों की तत्‍काल जरूरत नहं है तो यंग जेनरेशन क्या करें निवेशक को एसआईपी जारी रखनी चाहिए. कुछ पैसों की जरूरत आगे पड़ने वाली है तो कुछ रकम इक्विटी से निकालकर डेट में क्या करें निवेशक क्या करें निवेशक या इमरजेंसी फंड के लिए रख सकते हैं. मल्‍टी एसेट क्या करें निवेशक अलोकेशन भी एक बेहतर विकल्‍प है. यह कुल निवेश का 20 फीसदी हो सकता है.

नए निवेशक को किस फंड में निवेश करना चाहिए?

बहुत से लोग म्युचुअल फ़ंड में निवेश करना चाहते हैं ताकि लंबी समय अवधि में उन्हें दूसरी असेट क्लास की तुलना में संभावित बेहतर मुनाफा मिले, पर वे नहीं जानते कि शुरुआत कहाँ से करें। क्योंकि म्युचुअल फंड में रिस्क होता है, इसलिए ज़्यादातर संभावित निवेशक इसमें अपनी मेहनत की कमाई लगाने से घबराते हैं। वे लगातार यह पता लगाते रहते हैं कि उन्हें किस फंड में निवेश करना चाहिए जिससे उन्हें रिस्क (जोखिम) के बिना म्यूचुअल फंड का मुनाफा मिल सके। क्योंकि कुछ पाने के लिए कुछ खोना पड़ता है, ऐसा कोई जीरो-रिस्क फंड नहीं है जो हमें दूसरे क्या करें निवेशक म्यूचुअल फंड्स की तरह मुनाफे देता हो। लेकिन ओवरनाइट फंड्स इसके काफ़ी करीब हैं।

ये फंड्स अगले दिन मैच्योर होने वाली सेक्यूरिटीज़ में निवेश करते हैं। इसलिए, वे काफ़ी स्पष्ट(आसान) होते हैं और उनमें सबसे कम रिस्क होता है। लेकिन लंबी समय अवधि में जो मुनाफा आप अपने पोर्टफोलियो के लिए चाहते हैं वह इन फंड्स से मिलना मुश्किल है। अगर आप अपनी ज़िंदगी भर की बचत म्युचुअल फंड्स में निवेश करने से पहले इसे छोटे स्तर पर आजमा रहे हैं, तो ओवरनाइट फंड आपके लिए बिल्कुल सही है।

Investment in Zomato : शेयरों की धमाकेदार लिस्टिंग के बाद अब क्‍या करें निवेशक, Stock रखें या बेचें- जानिए यहां

बाद में शेयर 81.57 फीसदी की उछाल के साथ 138 रुपये के स्तर पर पहुंच गए। (Pti)

Zomato के शेयर शुक्रवार को पहले कारोबारी दिन में 76 रुपये के IPO Priceband के मुकाबले लगभग 53 प्रतिशत की बढ़त के साथ सूचीबद्ध हुए। जोमैटो के शेयर बीएसई पर निर्गम मूल्य के मुकाबले 51.31 फीसदी की भारी बढ़त के साथ 115 रुपये प्रति शेयर के भाव पर सूचीबद्ध हुए।

नई दिल्‍ली, बिजनेस डेस्‍क। Zomato के शेयर शुक्रवार को पहले कारोबारी दिन में 76 रुपये के IPO Priceband के मुकाबले लगभग 53 प्रतिशत की बढ़त के साथ सूचीबद्ध हुए। जोमैटो के शेयर बीएसई पर निर्गम मूल्य के मुकाबले 51.31 फीसदी की भारी बढ़त के साथ 115 रुपये प्रति शेयर के भाव पर सूचीबद्ध हुए। बाद में शेयर 81.57 फीसदी की उछाल के साथ 138 रुपये के स्तर पर पहुंच गए।

रेटिंग: 4.59
अधिकतम अंक: 5
न्यूनतम अंक: 1
मतदाताओं की संख्या: 628
उत्तर छोड़ दें

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा| अपेक्षित स्थानों को रेखांकित कर दिया गया है *