मुद्रा हेजिंग

मिनट की रणनीति

मिनट की रणनीति
आईबीपीएस पीओ मेन्स अंग्रेजी भाषा के लिए महत्वपूर्ण विषय

IBPS PO मुख्य परीक्षा 2022: विशेषज्ञ द्वारा परीक्षा की रणनीति, महत्वपूर्ण विषय | प्रतियोगी परीक्षाएं

आईबीपीएस द्वारा प्रोबेशनरी ऑफिसर की भर्ती देश में सबसे अधिक मांग वाली बैंकिंग परीक्षाओं में से एक है। जैसा कि आप सभी अच्छी तरह से जानते मिनट की रणनीति हैं, परीक्षा का प्रारंभिक चरण 15, 16 और 22 अक्टूबर 2022 को विभिन्न स्लॉट में आयोजित किया गया था। IBPS PO मुख्य परीक्षा 26 नवंबर 2022 के लिए निर्धारित है। इसलिए, आज हम आपको IBPS PO मुख्य परीक्षा 2022 के लिए रणनीति प्रदान कर रहे हैं ताकि आप सभी को अधिक अनुशासित और योजनाबद्ध तरीके से परीक्षा की तैयारी करने में मदद मिल सके।

एक अच्छी तरह से तैयार की गई आईबीपीएस पीओ तैयारी गाइड विषयों की पूरी समझ हासिल करने में आवेदकों की सहायता कर सकती है। अंग्रेजी, क्वांटिटेटिव एप्टीट्यूड, रीजनिंग और सामान्य ज्ञान जैसे कई विषयों के लिए, उम्मीदवारों को एक उपयुक्त अध्ययन कार्यक्रम बनाना चाहिए।

मिनट की रणनीति

मैनपुरी उपचुनाव बना नाक का सवाल, शिवपाल से मिलने पहुंचे अखिलेश

लखनऊ, 17 नंवबर(आईएएनएस)। सपा संस्थापक मुलायम सिंह यादव के दिवंगत होने पर खाली हुई मैनपुरी सीट उनके बेटे अखिलेश यादव के लिए अब नाक का सवाल बन गई है। इसीलिए शायद वह सारे गिले शिकवे भुला मिनट की रणनीति कर एक बार फिर गुरुवार को अपने चाचा शिवपाल से मिलने उनके घर पहुंचे।

मैनपुरी उपचुनाव बना नाक का सवाल, शिवपाल से मिलने पहुंचे अखिलेश

लखनऊ, 17 नंवबर(आईएएनएस)। सपा संस्थापक मुलायम सिंह यादव के दिवंगत होने पर खाली हुई मैनपुरी सीट उनके बेटे अखिलेश यादव के लिए अब नाक का सवाल बन गई है। इसीलिए शायद वह सारे गिले शिकवे भुला कर एक बार फिर गुरुवार को अपने चाचा शिवपाल से मिलने उनके घर पहुंचे।

सीएम हेमंत सोरेन आज ईडी के सामने होंगे पेश, यूपीए रणनीति बनाने में जुटा

झारखंड में आज बड़ी हलचल है. रांची की राजनीतिक परिस्थितियां अचानक बदल गई है. आज दिन के 11 बजे सीएम सोरेन ईडी के सामने पेश होंगे. अगर ईडी कोई फैसला लेती है तो सरकार में शामिल सभी दल मिनट की रणनीति उसका मुकाबला करने को तैयार है. मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन ने कहा कि परिस्थिति के अनुसार किसी भी फैसले के लिए तैयार रहें.

बुधवार को मुख्यमंत्री आवास में पहले झामुमो विधायकों की बैठक हुई. इसमें सर्वसम्मति से हेमंत सोरेन को फैसला लेने के लिए अधिकृत किया गया. इसके बाद यूपीए विधायको की साझा बैठक हुई़. सभी विधायकों को रांची में ही रहने को कहा गया है.

बुधवार दोपहर कांग्रेस विधायक दल के नेता आलमगीर आलम के आवास में पार्टी विधायकों की बैठक भी हुई. हालांकि इसमें पार्टी के निलंबित विधायकों सहित आठ विधायक नहीं पहुंचे. कांग्रेसी विधायकों ने कहा कि वह पूरी एकजुटता के साथ वर्तमान परिस्थिति से लड़ेंगे. देर शाम मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन के आवास पर गठबंधन के विधायक साथ बैठे. इडी के समक्ष पेशी के एक दिन पूर्व हेमंत सोरेन जम कर बरसे भी. उन्होंने झामुमो कार्यकर्ताओं से कहा कि आप डटे रहिये, मैं सबको एक-एक कर देख लूंगा. बीजेपी का नाम लिये बिना कहा कि मिनट की रणनीति ये हर तरह के प्रयास में लगे हैं. मुझे सत्ता मिनट की रणनीति से बेदखल करने के लिए. आप मिनट की रणनीति डटे रहिए मैं सबको एक – एक कर देख लूंगा.

रेटिंग: 4.26
अधिकतम अंक: 5
न्यूनतम अंक: 1
मतदाताओं की संख्या: 442
उत्तर छोड़ दें

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा| अपेक्षित स्थानों को रेखांकित कर दिया गया है *