विदेशी मुद्रा सफलता की कहानियां

करेंसी से लाभ

करेंसी से लाभ
यह पॉलिसी ब्रीफ इस बात पर जोर देती है कि विकास के वित्तपोषण के लिए देशों को वित्तीय रिसाव को संबोधित करते हुए एक साथ कई स्रोतों से धन जुटाना चाहिए।

Digital Currency News

क्रिप्टोकरेंसी से पैसे कैसे कमाए

स्टॉक्स को निवेश के रूप में नहीं खरीदा जाता है, बल्कि स्टॉक्स की कीमतों में उतार-चढ़ाव का उपयोग करके लाभ बनाने के तरीके के रूप में खरीदा जाता है।।

Crypto trading क्रिप्टोकरेंसी की ट्रेडिंग जहां पर होती है उन्हें हम Cryptocurrency Exchange कहते हैं जैसे Binance, Wazirx, CoinDCX, Coinswitch Kuber आदि।

Cryptocurrency: किसी को रातोंरात कर सकती है मालामाल तो किसी को कंगाल, जानिए क्रिप्टोकरेंसी के फायदे और नुकसान

टाइम्स नाउ ब्यूरो

Cryptocurrency know the advantages and disadvantages of Cryptocurrency and Bitcoin

  • देश और दुनियाभर में तेजी से बढ़ रहा है क्रिप्टोकरेंसी का चलन
  • पीएम मोदी ने क्रिप्टो को लेकर जताई चिंता, कहा- ये जरूरी है कि सभी लोकतांत्रिक देश इसपर मिलकर काम करें
  • क्रिप्टो किसी को भी घंटों के अंदर बना सकती है मालामाल तो कर सकती है कंगाल भी

Cryptocurrency's advantages and disadvantages: आज बात उस डिजिटल डेंजर की, जिसकी तरफ देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी हाल ही में इशारा कर चुके हैं। सिर्फ इशारा नहीं बल्कि दुनिया के बड़े और ताकतवर मुल्कों को आगाह कर चुके हैं और इसका नाम है-क्रिप्टो करेंसी। बिटक्वाइन। वही बिटक्वाइन जो किसी की रातों रात मालामाल तो किसी को रातों रात करेंसी से लाभ करेंसी से लाभ कंगाल बना देती है। आने वाले वक्त में पीएम मोदी इस बाबत बड़ा कदम उठाने वाले हैं। इसका संकेत उन्होंने दो दिन पहले दे दिया था। अब एक्शन की बारी है।

पीएम ने खतरे को लेकर जताई चिंता

पीएम मोदी ने इसे लेकर चिंता जाहिर करते हुए कहा, 'क्रिप्टो करेंसी और बिटक्वाइन। ये जरूरी है कि सभी लोकतांत्रिक देश इसपर मिलकर काम करें और सुनिश्चित करें कि ये गलत हाथों में ना जाए, जो हमारे युवाओं को बर्बाद कर सकता है।' क्रिप्टो करेंसी या बिट क्वाइन को लेकर प्रधानमंत्री ने ये चिंता दो दिन पहले सिडनी डायलॉग में चलाई। ना सिर्फ चिंता जताई, बल्कि दुनिया के सभी बड़े देशों को इससे आगाह भी किया। तो सवाल ये है कि आखिर बिटक्वाइन को लेकर प्रधानमंत्री का डर क्या है? पीएम ने क्रिप्टो करेंसी को लेकर अलार्म क्यों बजाया ? कौनसा खतरा है, जिसकी आहट हो चुकी है ?

आज आपको इन सभी सवालों का सिलसिलेवार तरीके से जवाब मिलेगा। लेकिन सबसे पहले ये जान लीजिए कि आखिर ये क्रिप्टो करेंसी है क्या ? जी हां ये वही क्रिप्टो करेंसी या बिट क्वाइन है, जो पूरी दुनिया को बहुत तेजी से अपनी गिरफ्त में लेती जा रही है। इस रफ्तार से कि कल्पना करना मुश्किल है।ये वही क्रिप्टो करेंसी है, जो भारत में लीगल नहीं है। बावजूद इसके भारत वो देश है, जो इस अदृश्य करेंसी में सबसे ज्यादा इन्वेस्ट कर रहा है। इसीलिए सवाल उठता है कि आखिर देश में इस डिजिटल करेंसी का फ्यूचर क्या है? क्या सरकार इसे बैन करेगी या कानूनी मान्यता देगी?

सबसे डरावना पहलू

खैर सरकार इस बाबत क्या करने वाली है, तो आने वाले वक्त में पता चलेगा, लेकिन इस करेंसी के कुछ अपने खतरे हैं। वो क्या. समझिए। इसके अपने खतरे तो हैं ही। चाहे वो सरकार के लिए हों या उन लोगों के लिए जो इसके जरिए रातों रात रईस बनने का सपना देख रहे हैं। लेकिन अब ये भी समझिए कि आखिर इस छिपे हुए या करेंसी से लाभ अदृश्य मनी को लाने के पीछे का मकसद क्या था? सबसे डरावना पहलू ये है कि जिस तरह से ये रुपया अदृश्य है, उसी तरह से इसे अस्तित्व में लाने वाला शख्स भी।

2010 में एक बिट क्वाइन की कीमत सिर्फ 22 पैसे थे, लेकिन अब इसकी कीमत सुनेंगे तो दंग रह जाएंगे। इस क्रिप्टो करेंसी के खतरे क्या हैं, उसे भी समझिए। इन सब खतरों के बीच, प्रश्न ये है कि आखिर भारत में इस करेंसी का क्या भविष्य है। क्या सरकार इसे बैन करने वाली है, या कानूनी मान्यता देगी? भारत में क्रिप्टो करेंसी बैन होगी या नहीं, इसका जवाब आने वाले वक्त में मिलेगा, लेकिन दुनिया के कई देशों में ये बैन है। तो कहने का मतलब ये है कि क्रिप्टो करेंसी को लेकर सावधान रहने की जरूरत है। क्योंकि जितने इसके फायदे हैं, उतने ही नुकसान भी हैं।

Vastu Tips: घर की तिजोरी में जरूर रखें ये छोटी-छोटी सी चीजें, कभी नहीं होगी पैसों की कमी

नई दिल्‍ली। जीवन में हर कोई अपने शौक व जरूरतों को पूरा करने के लिए पैसा (Mone) कमाने की चाहत रखता है। लोग पैसा कमाने के लिए कड़ी मेहनत करते हैं। लेकिन किस्मत का साथ होने के कारण कई लोग धन संचय करने में सफल होते हैं और कुछ लोगों की किस्मत (Destiny) का साथ न मिलने के कारण वे धन आकर्षित नहीं कर पाते हैं। वास्तु शास्त्र में धन लाभ (money gain) के जुड़े कई उपाय बताए गए हैं। जानें तिजोरी या लॉकर (safe or locker) में पैसों के साथ किन चीजों को रखने से बनते हैं धन लाभ के योग-

भगवान कुबेर की मूर्ति-
भगवान कुबेर को धन व समृद्धि का देवता माना गया करेंसी से लाभ है। लॉकर या तिजोरी में भगवान कुबेर की मूर्ति रखनी चाहिए। वास्तु के अनुसार, इससे आपको धन आकर्षित करने में मदद मिलेगी। मान्यता है कि ऐसा करने से जीवन में आर्थिक उन्नति आती है।

यह भी पढ़ें | वास्तु के इस उपाय से पैसों से कभी नहीं खाली रहेगा आपका पर्स, बस कर लें ये उपाय

छोटा दर्पण-
घर में धन को आकर्षित करने के लिए लॉकर के अंदर एक छोटा शीशा या दर्पण रखना चाहिए। ध्यान रखें कि जब आप लॉकर खोलें तो यह दर्पण दिखाई दे और वह सभी सामान भी दिखे जिन्हें आपने लॉकर में रखा है।

रखें नए करेंसी नोट-
अपनी पसंद के अनुसार हर नंबर या सबसे से कम नोट करना चाहिए। वास्तु के अनुसार, इन नोटों को तिजोरी से कभी नहीं निकालना चाहिए।

बेकार की चीजें न रखें-
कई बार लोग लॉकर में बेकार की चीजें भी रख देते हैं। लॉकर में कीमती आभूषण, धन व मूल्यवान सामान ही रखें। चाबियां व फोटो रखने से बचें।

कौड़ियों को लाल कपड़े में रखें-
वास्तु में कौड़ियों का विशेष महत्व है। ये किस्मत चमकाने में सहायक मानी गई हैं। वास्तु शास्त्र के अनुसार, करेंसी से लाभ एक साफ लाल कपड़े में सात कौड़ियां बांधकर लॉकर में रखें। मान्यता है कि इससे सौभाग्य की प्राप्ति होती है। मां लक्ष्मी का घर में आगमन होता है।

करेंसी से लाभ

2021 में 7.3% भारतीयों के पास डिजिटल करेंसी, दुनिया में 7वां सबसे ऊंचा: UNCTAD

7.3% Of Indians Owned Digital Currency in 2021, 7th Highest in World: UNCTAD

व्यापार और विकास पर संयुक्त राष्ट्र सम्मेलन (UNCTAD) ने अनुमान लगाया कि 2021 में भारतीय आबादी करेंसी से लाभ के 7.3% के पास डिजिटल मुद्रा थी, जिससे भारत जनसंख्या के हिस्से के रूप में डिजिटल मुद्रा स्वामित्व के लिए शीर्ष 20 वैश्विक अर्थव्यवस्थाओं में से 7 वें स्थान पर करेंसी से लाभ था।

  • UNCTAD के अनुसार, COVID-19 महामारी के दौरान क्रिप्टोकरेंसी का उपयोग अभूतपूर्व वैश्विक दर से बढ़ा है।

इसने इस संबंध में तीन पॉलिसी ब्रीफ जारी किए हैं। वे इस प्रकार हैं:

करेंसी से लाभ


भारत में फेंगशुई (Feng Shui) का प्रचलन तेजी से बढ़ा है। फेंगशुई करेंसी से लाभ करेंसी से लाभ में ऐसे कई उपायों के बारे में बताया गया है, जिससे आपकी परेशानियां दूर हो सकती है। फेंगशुई की चीजें जैसे शोपीस, पेटिंग और पेड़-पौधे आदि से जुड़े नियमों को अब भारत में अपनाया जा रहा है। आर्थिक स्थिति के सुधार और धन लाभ (money gain) के लिए फेंगशुई उपाय काफी प्रभावी माने जाते हैं।
⇒ इस्तेमाल में ना आने वाली चीजों को पर्स से तुरंत हटा दें
फेंगशुई के मुताबिक अपने वॉलेट में पुराने और ऐसी चीजें जिसका इस्तेमाल आप नहीं कर रहे हैं, उसे तुरंत ही निकाल देना चाहिए। पुराने बिल्स, पुराने कार्ड्स आदि को अपने वॉलेट से निकाल कर हटा दें। फेंगशुई के मुताबिक पुराने बिल और पुराने कार्ड्स नकारात्मकता की निशानी हैं।
⇒ सही ढंग से रखें नोट
फेंगशुई के मुताबिक वॉलेट में नोट रखते समय विशेष सावधानी बरतनी चाहिए। पर्स में नोट रखते समय यह सुनिश्चित करना चाहिए कि नोट कहीं से जुड़ा हुआ ना हो और उसे रखने का तरीका सलीके से हो। फेंगशुई के मुताबिक पैसों को जैसे-तैसे या मोड़ कर नहीं रखना चाहिए।
⇒ सही क्रम का करें पालन
वॉलेट में करेंसी से लाभ नगदी, नोट और कार्ड्स को व्यवस्थित तरीके से रखें। फेंगशुई के मुताबिक जितने सलीके और व्यवस्थित तरीके से नोट, नगदी और कार्ड्स को आप अपने पर्स में रखेंगे आपका पर्स उतना ही आपका साथ देगा। इन नियमों के पालन करने से आपके पास में धन की कमी कभी नहीं होगी।
⇒ पर्स में ज्यादा से ज्यादा पेपर करेंसी रखें
फेंगशुई के मुताबिक आप प्रयास करें कि आपके पास में ज्यादा से ज्यादा मात्रा में पेपर करेंसी हो। आजकल क्रेडिट कार्ड और डेबिट कार्ड का अधिक प्रचलन है। ऐसे में लोग नोट या नगदी कम ही रखते हैं। लेकिन पर्स में कुछ पैसे जरूर रखें। इस बात भी ध्यान रखें कि आपके वॉलेट में छोटी करेंसी सबसे पहले दिखे। पैसों को क्रमानुसार भी रखना चाहिए।
⇒ सिक्कों को एक जगह रखें
फेंगशुई के अनुसार अपने वॉलेट में एक स्थान निश्चित कर लें और उसी स्थान पर सिक्कों को रखें। इसके अलावा फेंगशुई में इस बात का भी जोर दिया गया है कि वॉलेट को घर या दफ्तर कहीं भी रखने के लिए एक निश्चित स्थान होना चाहिए। घर में भी सिक्के को एक निश्चित स्थान पर रखना चाहिए। फेंगशुई के अनुसार ऐसा करने से आर्थिक विकास को बढ़ावा मिलता है और आपके वॉलेट में कभी भी धन की कमी नहीं होती है।

रेटिंग: 4.37
अधिकतम अंक: 5
न्यूनतम अंक: 1
मतदाताओं की संख्या: 504
उत्तर छोड़ दें

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा| अपेक्षित स्थानों को रेखांकित कर दिया गया है *