दिन के कारोबार के लिए एक परिचय

एफएक्सटीएम

एफएक्सटीएम
Exinity Limited (www.forextime.com) मॉरीशस गणराज्य के वित्तीय सेवा आयोग द्वारा विनियमित निवेश डीलर है, जिसकी लाइसेंस संख्या C113012295 है।

यूरोपीय खिताब जीत भारतीय मुक्केबाजों ने रचा इतिहास

लिमासोल (साइप्रस) : भारतीय मुक्केबाजों ने इतिहास रचते हुए इस वर्ष के `इन्विटेशनल एफएक्सटीएम इंटरनेशनल लिमासोल बॉक्सिंग कप` को जीत लिया और शीर्ष स्थान के लिए अपनी दावा पक्का कर लिया।
भारतीय मुक्केबाजों ने पूरे टूर्नामेंट के दौरान अपनी प्रतिभा और हौसले का प्रदर्शन किया और रविवार को हुए फाइनल मुकाबले में चौंकाते हुए कुल 10 पदक अपनी झोली में डाल लिए। भारत को चार स्वर्ण पदक, तीन रजत पदक और तीन कांस्य पदक हासिल हुए। इस जीत के साथ ही भारतीय टीम को शीर्ष स्थान एफएक्सटीएम मिलना पक्का हो गया है।
भारतीय टीम ने पहली बार किसी यूरोपियाई टूर्नामेंट में खिताबी जीत हासिल की है।
भारत का टूर्नामेंट का पहला मुकाबला मौजूदा राष्ट्रीय चैम्पियन मदन लाल (52 किलोग्राम) ने खेला। लाल ने इस मुकाबले में बेल्जियम के आईगाह डोड्सी को हराकर फ्लाइवेट खिताब पर कब्जा कर लिया।
युवा एफएक्सटीएम ओलम्पिक-2009 के स्वर्ण पदक विजेता वी. दुर्गा राव (56 किलोग्राम) को जर्मनी के मुक्केबाज डाइटर डायर के खिलाफ जीत दर्ज करने के लिए कड़ा संघर्ष करना पड़ा। इस जीत के साथ राव ने सीनियर टूर्नामेंट में अपना पहला अंतर्राष्ट्रीय पदक हासिल किया। एफएक्सटीएम
मंदीप जांगड़ा (69 किलोग्राम) ने स्पेन के विक्टर वेगा ब्लांको को एकतरफा मुकाबले में हराकर वाल्टरवेट खिताब अपने नाम कर लिया।
भारत के लिए मुक्केबाज प्रवीण कुमार (91 किलोग्राम) ने चौथा स्वर्ण पदक जीता। कुमार ने सुपर हैवीवेट वर्ग में अल्जीरिया के बेगुएर्नी हमजा को हराया।
भारत के लिए मनोज कुमार (64 एफएक्सटीएम किलोग्राम), दिनेश कुमार (91 किलोग्राम) और सुखदीप सिंह (75 किलोग्राम) ने रजत पदक हासिल किया।
कांस्य पदक हासिल करने वाले भारतीय मुक्केबाज हैं-अनिल कुमार (60 किलोग्राम), जगरूप सिंह (81 किलोग्राम) और एल. देवेंद्रो सिंह (49 किलोग्राम)।
मुख्य राष्ट्रीय कोट जी. एस. संधु भारतीय मुक्केबाजों के प्रदर्शन से काफी खुश हैं।
संधु ने कहा, "यह हमारी पहली खिताबी जीत है, इससे पहले हमने किसी यूरोपियाई टूर्नामेंट में जीत नहीं हासिल की थी। भारतीय मुक्केबाजों के लिए यह बहुत बड़ी उपलब्धि है और मैं अपने मुक्केबाजों के प्रदर्शन से बहुत खुश हूं।" (एजेंसी)

अभी अपने सटीक पार्टनर की तलाश में हैं?

How It Works

FXTM AwardsFXTM Awards

Scroll Top

  • FXTM की अधिक जानकारी
    • MyFXTM - क्लाइंट डैशबोर्ड
    • FXTMPartners सहबद्ध और IB प्रोग्राम
    • FXTMPartners
    • पार्टनरशिप विजेट
    • कैरियर
    • आयोजन
    • ग्राहक सेवाएं
    • उत्कृष्ट ट्रेडिंग शर्तें

    प्रमुख FX युग्मों पर जीरो स्प्रेड सहित अधिक पाएं।

    डेस्कटॉप, वेब या मोबाइल पर
    MetaTrader 4 एवं MetaTrader 5

    EUR/USD पर 0.1 से तंग स्‍प्रेड और तेज ट्रेड निष्पादन

    लचीले लीवरेज और 0.01 लॉट से एफएक्सटीएम ट्रेड आकार 1:1 से 1:2000 तक

    विशेषज्ञों से फ्री ट्रेडिंग शिक्षा और बाजार अंतर्दृष्टि

    आज ही ट्रेडिंग शुरू करने के लिए अपना अकाउंट खोलें!

    एडवांटेज अकाउंट: $500+ बैलेंस

    प्रमुख FX युग्‍मों पर सामान्‍यतया जीरो स्‍प्रेड, प्रतिस्‍पर्धी कमीशन, हर दौर की पेशकश

    एडवांटेज प्‍लस अकाउंट: $500+ बैलेंस

    कोई कमीशन नहीं, सुपर टाइट स्‍प्रेड

    माइक्रो अकाउंट: $500+ बैलेंस

    टाईट स्‍प्रेड और कोई कमीशन नहीं, छोटे आकार के ट्रेड

    प्रश्‍न?

    हमसे चौबीसों घंटे संपर्क करें

    अनेक न्यायालयों से लाइसेंस प्राप्‍त और विनियमित, दुनिया भर में हम 150 से अधिक देशों में
    ग्राहकों को सर्व करते हैं। इन सभी क्षेत्रों में हम रिटेल ग्राहकों के लिए अलग-अलग फंड ऑफर करते हैं।

    FXTM चुनने के और अधिक कारण

    फ्री शैक्षिक संसाधनों से अपना कौशल विकसित करें

    • सेमिनार या वेबिनार में हमारे विशेषज्ञों के साथ शामिल हों
    • ऑनलाइन ट्रेडिंग पाठ्यक्रम में शामिल हों
    • ई-बुक्स और मार्केट आउटलुक डाउनलोड करें

    अपनी ट्रेडिंग दक्षता अधिकतम करें

    • तंग स्‍प्रेड से ट्रेडिंग लागत कम करें (0.1 से EUR/USD)
    • लचीले लीवरेज से अधिक ट्रेडिंग पॉवर तक एक्‍सेस पाएं
    • सुपरफास्ट निष्पादन से पोजीशनों की सही योजना बनाएं

    दुनिया का पसंदीदा प्लेटफॉर्म, MetaTrader चुनें

    • MetaTrader 4 या MetaTrader 5 की आपकी पसंद
    • डेस्कटॉप, मोबाइल या ब्राउज़र के माध्यम से उपलब्ध
    • आपके कार्यक्षेत्र के मानक दृश्य या कस्टमाइज़ करें

    FXTM इनवेस्ट के साथ कॉपीट्रेड करें

    • कॉपी करने के लिए 5,000 से अधिक ट्रेडिंग स्‍ट्रेटजियां चुनें
    • कॉपीट्रेडिंग शुल्क का भुगतान केवल लाभदायक ट्रेडों पर करें
    • सिर्फ $100 से शुरु करें

    भारतीय मुक्केबाजों ने रचा इतिहास, 4 गोल्ड सहित झटके रिकॉर्ड 10 पदक

    भारतीय मुक्केबाजों ने साइप्रस के लिमासोल में संपन्न हुए एफएक्सटीएम अंतरराष्ट्रीय मुक्केबाजी कप में चार स्वर्ण सहित दस पदक जीतकर इतिहास रच दिया। भारत के लिए मुक्केबाज मदन लाल (52 किग्रा), वी दुर्गा राव (56 किग्रा), मनदीप जांगड़ा (6

    नई दिल्ली। भारतीय मुक्केबाजों ने साइप्रस के लिमासोल में संपन्न हुए एफएक्सटीएम अंतरराष्ट्रीय मुक्केबाजी कप में चार स्वर्ण सहित दस पदक जीतकर इतिहास रच दिया। भारत के लिए मुक्केबाज मदन लाल (52 किग्रा), वी दुर्गा राव (56 किग्रा), मनदीप जांगड़ा (69 किग्रा) और प्रवीण कुमार (91 किग्रा से अधिक) ने स्वर्ण पदक जीते, जबकि मनोज कुमार (64 किग्रा), दिनेश कुमार (91 किग्रा) और सुखदेव सिंह (91 किग्रा) को रजत से संतोष करना पड़ा। इससे पहले अनिल कुमार (60 किग्रा), जगरूप सिंह (81 किग्रा) और एल देवेंद्रो सिंह (49 किग्रा) ने कांस्य पदक जीते थे। इसके साथ ही यह पहला मौका है जब भारतीय मुक्केबाज यूरोपियन सर्किट पर इतने स्वर्ण पदक जीतने में सफल रहे हैं। हालांकि ओलंपियन और 2010 राष्ट्रमंडल खेलों के स्वर्ण पदक विजेता दिनेश कुमार का हारना सबसे ज्यादा निराशाजनक एफएक्सटीएम रहा। दिनेश को अल्जीरिया के अबेदेलकादेर चाडी ने मात दी।

    अमेरिकी दबाव बढ़ने से तुर्की की मुद्रा लीरा 16 फीसदी गिरकर रिकॉर्ड निचले स्तर पर

    इस्तांबुल : अमेरिका के साथ तनाव गहराने से तुर्की की मुद्रा लीरा अमेरिकी डॉलर के मुकाबले 16 फीसदी गिरकर नये रिकॉर्ड निचले स्तर पर आ गयी. हालांकि, तुर्की के राष्ट्रपति रजब तैयब एर्दोआन का दावा है कि इस आर्थिक युद्ध में तुर्की निश्चित तौर पर विजेता बनकर उभरेगा. लीरा में शुक्रवार को आयी गिरावट एर्दोआन के 2003 में सत्ता में आने के बाद से यह तुर्की का सबसे बड़ा आर्थिक संकट है. इससे पहले तुर्की ने 2001 में भीषण आर्थिक संकट का सामना किया था.

    कैपिटल इकोनॉमिक्स के मुख्य वैश्विक अर्थशास्त्री एंड्र्यू केनिंघम ने कहा कि मई में शुरू हुई लीरा की गिरावट अब ऐसी स्थिति में आ गयी है, जो तुर्की की अर्थव्यवस्था को मंदी में धकेल देगी और यह बैंकिंग संकट उत्पन्न कर सकती है. मुद्रा का यह संकट ऐसे समय आया एफएक्सटीएम है, जब तुर्की का अमेरिका के साथ संबंध 1974 के बाद के सबसे बुरे दौर में है. संबंधों में सुधार के भी फिलहाल कोई संकेत नहीं मिल रहे हैं. तुर्की के इस मुद्रा संकट ने वैश्विक स्तर पर शेयर बाजारों पर भी असर डाला है. कुछ यूरोपीय बैंक तुर्की को दिये भारी कर्ज के कारण इस संकट की चपेट में आ गये हैं.

रेटिंग: 4.73
अधिकतम अंक: 5
न्यूनतम अंक: 1
मतदाताओं की संख्या: 638
उत्तर छोड़ दें

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा| अपेक्षित स्थानों को रेखांकित कर दिया गया है *